छत्तीसगढ़

जरूरतमंद परिवारों को मदद से निगम ने किया इंकार, तो माकपा ने बनाया अनाज बैंक, पहुंचाया राशन ; माकपा पार्षदों ने दिया अपना वेतन, तो रेड वालंटियर्स ने संभाला मोर्चा

कोरबा। लॉक डाऊन के कारण बांकी मोंगरा क्षेत्र में पसरती भुखमरी से लड़ने के लिए मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने अनाज बैंक की स्थापना की है। इस अनाज बैंक से आज इस क्षेत्र के मोंगरा बस्ती, मड़वाढ़ोढा तथा गंगानगर में लगभग 50 गरीब परिवारों को राशन किट वितरित किया गया। इस किट में चावल, दाल, तेल, नमक, चाय और शक्कर के साथ ही प्याज, मसाले और हरी सब्जियां भी हैं। प्रत्येक जरूरतमंद परिवार को न्यूनतम एक सप्ताह का राशन देने का लक्ष्य रखा गया है।

माकपा जिला सचिव प्रशांत झा ने बताया कि यह अनाज बैंक लॉक डाऊन पीरियड तक काम करेगा तथा इसे सीटू और छत्तीसगढ़ किसान सभा के साथियों की विशेष पहलकदमी से शुरू किया गया है। इस अनाज बैंक की स्थापना में सीटू के राज्य उप-महासचिव व कोयला श्रमिक संघ के नेता वी एम मनोहर, सीटू के जिला अध्यक्ष एस एन बेनर्जी, सीटू नेता जनाराम कर्ष तथा किसान सभा के नेता जवाहर सिंह कंवर, नंदलाल कंवर, दीपक साहू, प्रताप दास, जनकदास कुलदीप आदि का विशेष सहयोग मिला है। माकपा पार्षदों राजकुमारी कंवर और सुरती कुलदीप ने इस अनाज बैंक के संचालन के लिए अपना एक-एक माह का वेतन दिया है। सामर्थ्यवान नागरिकों से भी इस अनाज बैंक के सुचारू संचालन के लिए मदद ली जा रही है, ताकि लॉक डाऊन के दौरान गरीब नागरिकों की सतत सहायता सुनिश्चित की जा सके।

उन्होंने बताया कि बांकी मोंगरा क्षेत्र के ऐसे परिवारों को चिन्हित किया गया है, जो दैनिक मजदूरी, दिहाड़ी या चौक-चौराहों पर रोज अपना ठेला लगाकर अपनी जीविका चलाते थे या फिर निराश्रित हैं और लॉक डाउन से उनके सामने अपने परिवार के भरण-पोषण की समस्या उत्पन्न हो गई है। इन सब परिवारों को राशन किट पहुंचाने का काम आज से रेड वालंटियर्स द्वारा शुरू किया गया है। इन राशन किटों को सीटू तथा किसान सभा नेताओं और माकपा पार्षदों की अगुआई में माकपा के युवा कार्यकर्ताओं संतोष, कमलेश, नोहर बिंझवार बलराज, छोटू बिंझवार, संजय यादव, निशांत झा द्वारा चिन्हित परिवारों तक पहुंचाया गया है।

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार और नगर निगम की गरीबों को मदद पहुंचाने की तमाम घोषणाएं केवल समाचार पत्रों तक सीमित होकर रह गई है। माकपा की मांग और भुखमरी का शिकार हो रहे पीड़ित परिवारों की सूची दिए जाने के बावजूद नगर निगम प्रशासन ने उन लोगों को खाद्यान्न की मदद करने से आधार कार्ड और राशन कार्ड सत्यापन के नाम पर टालमटोल कर रहा है। इस बात को गंभीरता से लेते हुए अब ऐसे परिवारों को मदद पहुंचाने का बीड़ा माकपा ने उठाया है। माकपा नेताओं ने गरीबों के लिए शासन द्वारा आ रही खाद्यान्न सहायता में निगम प्रशासन द्वारा गड़बड़ी करने का आरोप लगाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
LIVE OFFLINE
track image
Loading...