छत्तीसगढ़

दुर्ग जिले कि मर्रा कृषि कालेज में सात दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन ।


दुर्ग।सात दिवसीय कृषक प्रशिक्षण का आयोजन कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्र, मर्रा (पाटन)में किया गया है। जिसका उददेश्य महिला स्व सहायता समूह के साथ – साथ गांव के बेरोजगार नवयुवक एवं नवयुवतियों को प्राशिक्षित करना है। ताकि वे अतिरिक्त आय अर्जित कर सकें । उक्त प्रशिक्षण महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ. अजय वर्मा , प्राध्यापकगण डॉ. नितिन कुमार तुरे, डॉ. व्ही के. सोनी, डॉ. ओ. पी. परगनिहा के मार्गदर्शन में आयोजित किया जा रहा हैं । डॉ. नितिन कुमार तुर्रे ने प्रशिक्षण में बताया कि मशरूम की सब्जी बनाकर खाया जा सकता है साथ ही उसके विभिन्न व्यंजन व प्रसंस्कृत उत्पाद जैसे पापड़ बड़ी बेचकर लाभ कमाया जा सकता है। महाविद्यालय के सहायक प्राध्यापक डॉ. नितिन कुमार तुरे ने मशरूम उत्पादन को प्रायोगिक रूप से प्रदर्शन करके कृषकों को सिखाया । साथ ही उन्होंने महिला कृषक स्वसहायता समूहों व बेरोजगार नवयुवकों को मशरूम बीज (स्पॉन) का भी प्रशिक्षण दिया । उक्त प्रशिक्षण में ग्राम गाड़ाडीह, धूमा, कुम्हली, भनसुली, गुढ़ियारी, मर्रा, बोरीद, बेलोदी, भैंसबोड से आए श्रीमति मनभा यादव, अनु यादव, भारती वर्मा, मोंगरा वर्मा, रूचि साहू, निशा ठाकुर, रश्मि साहू, पायल वर्मा, अलका सोनवानी, भूनेश्वरी ठाकुर, साधना बघेल, जया चंद्राकर, मीरा ठाकुर, सीमा ठाकुर, किरण ठाकुर, साधना यादव, ममता यादव कृष्णा नेताम, लोकनाथ साहू एवं पवन गिरी उत्साहपूर्वक भाग लेकर मशरूम उत्पादन व विपणन के तकनीक सीख रहे हैं ताकि वे आत्मनिर्भर बन सकें व इसे व्यवसाय के रूप में अपना सकें। उक्त प्रशिक्षणार्थी जय मां वैभव लक्ष्मी स्वसहायता समूह, श्री साई महिला स्वसहायता समूह, जय मां ज्वाला स्वसहायता समूह, आदिवासी महिला स्वसहायता समूह, मां भानेश्वरी स्वसहायता समूह, भाग्य लक्ष्मी स्वसहायता आदि समूहों से आकर प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
LIVE OFFLINE
track image
Loading...